Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana, ऑनलाइन अप्लाई, मेरा पानी meri विरासत 2020 रजिस्ट्रेशन, फॉर्म: जैसा कि आप सब लोग जानते ही हैं कि खेती करने के लिए किसान को पानी एवं जमीन की अत्यंत जरूरत होती है। और अगर यही खेती धान की की जाए फिर तो पानी की आवश्यकता और ज्यादा बढ़ जाती है। हर एक किसान चाहता है कि उसके खेत में उपज एवं खेती अच्छी हो ताकि वह अपना जीवन सुख से व्यतीत कर पाए और उस उपज को बाजार में बेच सकें। लेकिन यह सब कुछ किसान के लिए उसकी जमीन एवं पानी पर निर्भर करता है। अगर तो मौसम सही रहा बारिश आ गई तो खेती अच्छी भी हो जाती है लेकिन अगर कहीं बारिश ज्यादा  मात्रा में आ गई तो उस फसल को बर्बाद भी कर देती है। इसलिए हर फसल की उपज के लिए नियम और कायदे होते हैं। ऐसे ही कुछ नियम और कायदे धान यानि की चावल की उपज के लिए। हरियाणा की सरकार ने एक नई योजना की शुरुआत की है जिसका नाम Mera Pani Meri Virasat योजना है।

Topic Name Mera Pani Meri Virasat Yojana 2020 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
Article Category मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2020
Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme का उद्देश्य
मेरा Pani मेरी Virasat योजना ऑनलाइन प्रक्रिया
Haryana मेरा Pani मेरी Virasat योजना Farmer रजिस्ट्रेशन Search
Frequently Asked Questions
State Haryana
Official Website agriharyanaofwm

आप सब लोगों को पता नहीं होगा कि धान यानी चावल की खेती के लिए पानी की अत्यंत आवश्यकता होती है। उसकी उपज अच्छी होने के लिए चावल के खेत में घंटों भर रातों रात तक पानी खड़ा रहना चाहिए। तभी जाकर चावल की उपज अच्छी होती है। हरियाणा की सरकार ने इस योजना में सभी किसानों के रजिस्ट्रेशन करने के लिए agriharyanaofwm पोर्टल शुरू किया है। जहां सभी किसान इसमें ऑनलाइन रजिस्टर कर सकते हैं। इस योजना को हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री उन्हें 6 मई 2020 को शुरू किया। इस योजना को शुरू करने के पीछे मकसद यह था कि अब किसान अगर चाहे तो धान की खेती की जगह कोई अन्य फसल की खेती कर सकता है, और उसके लिए सरकार की तरफ से ₹7000 per एकड़ की राशि दी जाएगी। 

आप सभी को यह भी बता दें कि सभी किसानों को चावल की खेती की जगह दूसरी फसल की खेती कर सकते हैं,  दूसरी फसल जैसे कि मक्का, Arhar, उड़द, Cotton, बाजरा, Til और Gram Flour (बैसाखी मूंग)। हरियाणा के CM ने सभी Dark जॉन में आने वाले क्षेत्रों में चावल की खेती को छोड़कर बाकी दूसरी खेती करने के लिए बोला है जिससे सरकार उनको सहायता भी देगी। यह योजना जब धान लगाने का मौसम आता है  यानी कि 15 जून 2020 से पहले की एक प्रकार से सरकार की तरफ से पहल है।

 

मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2020

यह योजना हरियाणा की सरकार की तरफ से पानी और मिट्टी को बचाने के लिए भी एक पहल है। हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर ने इस योजना के सबसे पहले चरण में लगभग 19 ब्लॉक रखे हैं जिनमें Ground Water की गहराई लगभग 40 मीटर से अधिक है। इन 19 ब्लॉक में से 8 Block में  चावल की खेती अधिक है जैसे कि Kaithal (कैथल) से सीवन और Guhla, Sirsa, फतेहाबाद में Ratia एवं कुरुक्षेत्र में Shahabad, इस्माइलाबाद, pipli और बबैन। इन सब के अलावा Haryana मेरा Pani मेरी Virasat स्कीम में ऐसे अन्य 50 क्षेत्र भी शामिल है जहां घोड़े जितनी ताकत की तरह ट्यूबवेल का प्रयोग होता हो। हरियाणा में नागरिक चावल की खेती की जगह मक्का, Arhar, मूंग, Urad, तिल, Cotton, और सब्जी की खेती को करें। साथ में हरियाणा सरकार यह तरफ से यह भी आदेश है कि जिन इलाकों में Ground Water की गहराई लगभग 35 मीटर से भी कम है, वहां कोई भी किसान चावल की खेती ना करें।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना

आप सभी को बता दें कि इस योजना को अपनाने में सभी किसानों को लाभ भी मिलेगा। अभी के आंकड़ों के हिसाब से हरियाणा में लगभग 68 लाख metric टन (LMT) चावल एवं 25 (LMT) Basmati की खेती हो रही है। यहां इस लेख में हम आपको मेरा Pani मेरी Virasat योजना से जुड़ी हर जानकारी देंगे जैसे कि वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना, जरूरी दस्तावेज़, पात्रता एवं अन्य बाकी जानकारी देंगे। उसके लिए आपको इस लेख को पूरा पढ़ना होगा।


Overview of Haryana मेरा Pani मेरी Virasat Scheme

Name of Yojana मेरा Pani मेरी Virasat योजना
Govern By CM मनोहर लाल खट्टर
Beneficiary All Farmers
Main Objective किसानों को धान की खेती की जगह अन्य खेती करने के लिए राशि देना
Scheme Start Date  6 मई 2020


Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme का उद्देश्य
 

यहां अब हम आपको इस योजना के पीछे क्या उद्देश्य है उसके बारे में बताएंगे। जैसे कि आप सब लोगों को पहले भी बताया था कि कुछ फ़सलों ऐसी होती हैं जिनमें पानी बहुत अधिक मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है। और कुछ ऐसी होती है जो कम पानी में भी फसल अच्छी पैदा हो जाती है। और चावल की खेती ऐसी है जिसमें बहुत अधिक मात्रा में पानी की जरूरत पड़ती है। और यदि जहां चावल की खेती की जा रही है वहीं जमीन में पानी की मात्रा पहले से ही कम हो तो वहां चावल की खेती को करना बेकार है। इन सब चीजों को देखते हुए हरियाणा की सरकार ने पहले से ही योजना शुरू कर दी है जिससे उन्होंने सभी किसानों से अपील की है कि जिन जगहों पर जमीन का पानी पहले से ही कम है वहां चावल की खेती ना की जाए। और किसानों को साथ में इस योजना से लाभ भी दिया है कि उनको आर्थिक सहायता में कोई कमी ना आए। सरकार की तरफ से उन सभी किसानों को जो चावल की खेती नहीं कर पाएंगे उन्हें इस योजना की तरफ से दूसरी फसल को उगाने के लिए ₹7000 per एकड़ की राशि सहायता की तौर पर दी जाएगी। इस योजना में हरियाणा की सरकार की तरफ से water conservation को भी प्रोत्साहन किया गया है।


Features of मेरा Pani मेरी Virasat योजना

अब हम आपको यहां इस योजना से जुड़े features के बारे में बताएंगे, जो कुछ इस प्रकार है:

  • हरियाणा की सरकार इस योजना से water conservation को प्रोत्साहन कर रही है।
  • इस योजना को शुरू करने का मकसद यह है कि कोई भी किसान चावल की खेती को छोड़ने पर निराश ना हो।
  • उनको अन्य फ़सल की खेती करने के लिए सरकार की तरफ से सहायता दी जाएगी।
  • अन्य फ़सल खेती जैसे कि मक्का, Arhar, उड़द, Cotton, बाजरा, Til और Gram Flour और सब्जी आदि। इन सब फसल की खेती करने पर भी किसान को अधिक लाभ मिल सकता है।
  • इस योजना में रजिस्टर करने के लिए ऑनलाइन वेबसाइट भी बनाई गई है जहां किसान अपनी जमीन से संबंधित फॉर्म भर सकते हैं।
  • और यदि कोई ऐसा किसान है जो चावल की खेती को छोड़कर दूसरे फसल की खेती को करना चाहता है तो वह भी इस योजना में रजिस्टर करवा सकता है।
  • रजिस्टर करवाने का उद्देश्य यह है कि इससे पानी की जरूरत का सरकार पता कर सकेगी।


मेरा Pani मेरी Virasat योजना के लाभ 

जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि आजकल पानी के लिए बहुत ही ज्यादा हाहाकार होती है। इसी वजह से हरियाणा की सरकार ने किसानों के लिए योजना तैयार की है ताकि पानी को बचाया जा सके। यहां अब हम आपको इस योजना से जुड़े विभिन्न प्रकार के लाभ के बारे में बताएंगे, जो कुछ इस तरह है:

  • आपको बता दें कि योजना में रजिस्टर्ड करने के लिए किसान को हरियाणा राज्य का ही निवासी होना चाहिए।
  • योजना में रजिस्टर करने वालों को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • Maize, अरहर, Moong, उड़द, Til, कपास और सब्जी की खेती को हर किसान कर सकता है। आपको बता दें कि यह सब इस योजना के अंदर ही है।
  • आपको यह भी बता देंगे सरकार की तरफ से सभी दालों की खेती करने के लिए फॉर्म Machinery, एवं 80% की सब्सिडी माइक्रो-irrigation और Drip-इरिगेशन पर सरकार देगी।
  • सरकार की तऱफ से बताई गई योजना में सभी किसानों को दूसरी फसल के लिए बहुत लाभ मिलेगा।
  • चावल की खेती सिर्फ और सिर्फ जमीन के अंदर पानी के गिनती के हिसाब से ही की जाएगी।

मेरा Pani मेरी Virasat योजना ऑनलाइन प्रक्रिया

अब हम आपको यहां बताएंगे कि आप किस प्रकार मेरा Pani मेरी Virasat योजना में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करेंगे। जो भी इस योजना में ऑनलाइन रजिस्टर करना चाहता है वह नीचे दिए गए स्टेप्स को अच्छी तरह से पढ़े, जो कुछ इस प्रकार है:

  • रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले आपको यहां दी गई वेबसाइट पर जाना होगा agriharyanaofwm
  • पेज आपको कुछ इस तरह दिखाई देगा।

agriharyanaofwm

  • अब आपको यहां नीचे “किसान Registration” पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने पेज कुछ इस तरह दिखाई देगा।

Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana

  • अब आपको यहां पूरा फॉर्म अच्छे से भरना होगा। जैसे कि योजना के बारे में बताना होगा, फिर उसके बाद District, जिला, और अपने गांव का नाम जैसी जानकारी को भरना होगा।
  • उसके बाद किसान को अपने बारे में जानकारी देनी होगी जैसे कि अपना नाम, पता, माता पिता का नाम, श्रेणी, मोबाइल नंबर और आदि।
  • उसके बाद अपनी भूमि जहां पर आप ने फसल उगाने है वहां की पूरी जानकारी को भरना होगा।
  • उसके बाद पूछी गई बैंक की जानकारी को भरना होगा।
  • बैंक की जानकारी को भरने के बाद अब आपको अपना आधार कार्ड की स्कैन कॉपी को लगाना होगा। 
  • पूरी जानकारी को भरने के बाद नीचे दिए गए “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह से आपका फॉर्म इस योजना के लिए भरा जाएगा।

 

Haryana मेरा Pani मेरी Virasat योजना Farmer रजिस्ट्रेशन Search

अब हम आपको यहां बताएंगे कि आप किस प्रकार अपना नाम हरियाणा Mera पानी Meri विरासत Yojana में ऑनलाइन देख सकते हैं। यदि कोई किसान इस योजना में अपना रजिस्ट्रेशन करवाता है, तो उसे यह जानने की बहुत इच्छा रहती है कि उसके फॉर्म का स्टेटस क्या है। यहां पर हम आपको उसी के बारे में बताएंगे कि आप अपने फॉर्म को कैसे ढूंढ सकते हैं। यदि आपको अपना फॉर्म ढूंढना है तो आपको नीचे दिए गए steps को अच्छे से पढ़ना होगा, जो कुछ इस प्रकार है:

  • इसके लिए सबसे पहले आपको यहां दी गई ऑफिशियल website पर जाना होगा, जो इस प्रकार है: agriharyanaofwm

Haryana Mera Pani Meri Virasat 2020

  • अब आपको यहां नीचे दिए गए “Farmer रजिस्ट्रेशन Search” बटन पर क्लिक करना होगा। जो इस तरह दिखाई देगा।
  • क्लिक करने के बाद अब आपको पेज कुछ इस तरह दिखाई देगा।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना

  • अब आपको यहां पूछी गई सारी जानकारी को भरना होगा।
  • सारी जानकारी को भरने के बाद अब सामने दिए गए “सर्च” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सर्च बटन पर क्लिक करने के बाद अब आपके सामने आपका रजिस्ट्रेशन फॉर्म पता चल जाएगा कि सबमिट हुआ है या नहीं।
  • इस तरह से आप अपना रजिस्ट्रेशन फॉर्म चेक कर सकते हैं।


हेल्पलाइन Number

अब हम आपको यहां इस योजना से जुड़े हेल्पलाइन नंबर के बारे में जानकारी देंगे जो इस प्रकार है:

किसान कॉल center: 1800-180-1551

किसान मोबाइल Number (SMS): 09915862026

फ़ोन नंबर: 0172-2571553, 0172-2571544

Fax: 0172-2563242

ई-मेल: [email protected], [email protected]

 

“अगर आप इस लेख में दी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं है, तो आप अपना सुझाव नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में दे सकते है।”

 

Frequently Asked Questions


हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना कब और किसने शुरू की?

यह योजना हरियाणा के मुख्यमंत्री ने 6 मई 2020 को शुरू की थी।


मेरा Pani मेरी Virasat योजना को शुरू करने का उद्देश्य क्या है?

हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर इस योजना से सभी धान की खेती करने वाले किसानों को  ₹7000 प्रति एकड़ का लाभ देंगे।


किसान चावल की खेती की जगह और कौन सी फसल की खेती कर सकता है?

किसान अन्य फ़सल खेती जैसे कि मक्का, Arhar, उड़द, Cotton, बाजरा, Til और Gram Flour और सब्जी आदि। इन सब फसल की खेती करने पर भी किसान को अधिक लाभ मिल सकता है।


इस योजना का लाभ किसान को कब मिलेगा?

इस योजना का लाभ किसान को 15 जून 2020 से ही मिलेगा।

Leave a Comment