AICTE MHRD launched COVID-19 Student हेल्पलाइन पोर्टल

कोरोनावायरस ने भारत देश की अर्थव्यवस्था को हिला कर रख दिया है। कोरोनावायरस के चलते भारत देश में कोई भी कंपनी, फैक्ट्री, स्कूल, कॉलेज नहीं खुल रहे हैं क्योंकि देश में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 21 दिन के लॉक डाउन का आदेश दिया है, लॉक डाउन की वजह से देश में रहने वाला प्रत्येक नागरिक प्रभावित हुआ है चाहे वे आर्थिक रूप से हो, या स्वास्थ्य रूप से हो हर कोई अपने कार्यस्थल के अनुसार कोरोनावायरस के चलते दिक्कत भोग रहा है। कोरोनावायरस से प्रभावित होने वाले व्यक्तियों की सूची में हर उम्र का व्यक्ति है चाहे वह बालक हो या वृद्ध सब इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। 

[lwptoc title=”Contents”]

क्योंकि देश का भविष्य युवा होता है, यानी विद्यार्थी और विद्यार्थी भी इस कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते संघर्ष कर रहा है, और परिणाम स्वरूप उसकी पढ़ाई में बहुत सारी दिक्कतें आ रही हैं जो कि कहीं हद तक सरकार को मंज़ूर नहीं है, और इस भीषण समस्या का समाधान करने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) और मिनिस्ट्री ऑफ ह्यूमन रिसोर्स डिपार्टमेंट (MHRD) ने मिलकर एक स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल का निर्माण की स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल के चलते जो भी विद्यार्थी किसी समस्या से गुज़र रहा है चाहे वह  खाने की हो, पीने की हो, पढ़ाई की हो,स्वास्थ्य की हो, अटेंडेंस की हो, कक्षा से जुड़ी हो,ट्रांसपोर्टेशन की हो, इत्यादि वह विद्यार्थी इस स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल के जरिए अपनी समस्या को बता सकता है और जल्दी से जल्दी इस समस्या का समाधान उस विद्यार्थी तक पहुंचाया जाएगा। 

Topic AICTE & MHRD ने लॉन्च किया स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल
Category

स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल उदघाटन

कैसे काम करता है स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल

Official website https://helpline.aicte-india.org

 स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल उदघाटन

स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल का उदघाटन मिनिस्टर ऑफ ह्यूमन रिसोर्स डवलपमेंट मिनिस्टर श्री रमेश पोखरियाल जी ने 3 अप्रैल 2020 को किया था जिस का मेन उद्देश्य भारत में रहने वाले प्रत्येक छात्र को होने वाली समस्या का समाधान देना है।  ह्यूमन रिसोर्स डवलपमेंट मिनिस्टर श्री रमेश पोखरियाल जी का साथ, इंडियन काउंसिल आफ टेक्निकल एजुकेशन के चेयरमैन श्री अनिल सहस्रबुद्धे जी और उनके इंटर्न्स निशांत और आकाश जोकि ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी के छात्र हैं नेवी दिया। AICTE  के चेयरमैन श्री अनिल सहस्रबुद्धे और जी उनके इंटर्न्स निशांत और आकाश ने यह स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल की वेबसाइट को बनाया और इसे MHRD मिनिस्टर जी के सामने प्रस्तुत किया, यह सुझाव मिनिस्टर जी को बहुत अच्छा लगा और उन्होंने इसे लागू करने की इजाज़त दी।  

Student Helpline Portal के लिए ऑनलाइन आवेदन

स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले आपको इसमें खुद को पंजीकृत करना होगा, पंजीकरण करने के बाद आप अपनी परेशानी को इस पोर्टल के सुलझा खुल जा सकते हैं, नीचे दिए गए निर्देशों को पढ़कर आप अपना स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल में आसानी से पंजीकरण करवा सकेंगे, यह निर्देश कुछ इस प्रकार है।  

  • स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल में पंजीकरण करने के लिए सबसे पहले आपको इस की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा जो कि https://helpline.aicte-india.org है।  

Helpline Portal

  • जैसे ही आप वेबसाइट का होम पेज खोलेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जो  की कुछ इस प्रकार है।  

https://helpline.aicte-india.org

Student helpline portal

  • खोलें हुए पेज में कुछ विकल्प लिखे हुए हैं, जैसे कि class related, scholarship related, food related, attendance related, counseling, accomodation, health medicine, transport, harassment, placement related, online virtual class, etc 
  • विद्यार्थी को ऊपर दिए गए विकल्पों से संबंधित कोई भी परेशानी हो, तो वह उस विकल्प का चयन करें।  
  • अपनी परेशानी अनुसार जैसे ही आप उस विकल्प का चयन करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जिसमें उस विकल्प से जुड़े स्वयंसेवकों के मोबाइल नंबर उनके नाम के साथ आपको देखने लगेंगे। 
  • उन मोबाइल नंबर का उपयोग करके आप  उन स्वयंसेवकों को संपर्क कर सकते हैं और अपनी समस्या के बारे में बता कर समस्या का हल प्राप्त कर सकते हैं। 

Frequently Asked Questions

क्या स्टूडेंट हेल्पलाइन पोर्टल की सुविधाएँ मुफ्त है?

जी हां यह एकदम मुफ्त है। 


क्या कोई भी विद्यार्थी अपनी समस्या का इस पोर्टल के जरिए समाधान पा सकता है?

जी हां, आपकी हर समस्या का इस पोर्टल के जरिए समाधान किया जाएगा


स्वयंसेवकों का फोन ना उठने की परिस्थिति में क्या करें?

स्वयंसेवकों का फोन ना होने की स्थिति में कुछ देर बाद दोबारा कोशिश करें, और तब भी ना उठने की स्थिति में उनके फोन का इंतजार करें। 

Leave a Comment